HomeNewsNational‘प्रारंभ’: भारत ने अंतरिक्ष के क्षेत्र में रचा इतिहास, विक्रम-एस लॉन्च

‘प्रारंभ’: भारत ने अंतरिक्ष के क्षेत्र में रचा इतिहास, विक्रम-एस लॉन्च

*देश का पहला निजी तौर पर विकसित रॉकेट विक्रम-एस लॉन्च किया गया

- Advertisement -

*देश का पहला निजी तौर पर विकसित रॉकेट विक्रम-एस लॉन्च किया गया

- Advertisement -

हैदराबाद : देश के पहले निजी रॉकेट विक्रम-एस का आज प्रक्षेपण किया गया। रॉकेट को हैदराबाद स्थित स्टार्ट-अप कंपनी स्काईरूट एयरोस्पेस द्वारा विकसित किया गया है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो ने आज श्रीहरिकोटा स्थित अपने केंद्र से भारत के पहले निजी रॉकेट विक्रम-एस का प्रक्षेपण किया। इसके प्रक्षेपण के बाद निजी रॉकेट कंपनियों ने भारत के अंतरिक्ष मिशन में प्रवेश कर लिया है। यह देश के अंतरिक्ष उद्योग में निजी क्षेत्र के प्रवेश का मार्ग प्रशस्त करेगा, जिस पर दशकों से राज्य के स्वामित्व वाले इसरो का वर्चस्व रहा है।

2020 में, केंद्र सरकार द्वारा अंतरिक्ष उद्योग को निजी क्षेत्र के लिए खोलने के बाद, स्काईरूट एयरोस्पेस भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम में प्रवेश करने वाली भारत की पहली निजी क्षेत्र की कंपनी बन गई। ’विक्रम-एस’ रॉकेट को आज सुबह 11.30 बजे लॉन्च किया गया। पहले इसे 15 नवंबर को लॉन्च करने की योजना थी। सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से लॉन्च होने के बाद ’विक्रम-एस’ 81 किमी की ऊंचाई तक पहुंच जाएगा। रॉकेट का नाम भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक दिवंगत वैज्ञानिक विक्रम साराभाई के नाम पर रखा गया है।

- Advertisement -

’प्रारंभ’ नाम दिया गया, मिशन दो घरेलू और एक विदेशी ग्राहक के तीन पेलोड ले जाएगा। विक्रम-एस सब-ऑर्बिटल फ्लाइट चेन्नई स्टार्टअप स्पेस किड्स, आंध्र प्रदेश स्टार्टअप एन-स्पेस टेक और अर्मेनियाई स्टार्टअप बजमक्यू स्पेस रिसर्च लैब से तीन पेलोड ले जाएगा। स्काईरूट के एक अधिकारी ने कहा कि 6 मीटर लंबा रॉकेट दुनिया के पहले रॉकेटों में से एक है जिसमें घूर्णी स्थिरता के लिए 3-डी प्रिंटेड ठोस प्रणोदक हैं।

भारतीय राष्ट्रीय अंतरिक्ष संवर्धन और प्राधिकरण केंद्र के अध्यक्ष पवन गोयनका ने कहा, यह भारत में निजी क्षेत्र के लिए एक बड़ी छलांग है। रॉकेट लॉन्च करने के लिए अधिकृत पहली भारतीय कंपनी बनने के लिए स्काईरूट को बधाई। केंद्रीय कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि भारत श्रीहरिकोटा से ’स्काईरूट एयरोस्पेस’ द्वारा विकसित पहला निजी रॉकेट लॉन्च करके इतिहास रचने के लिए तैयार है। वे इसरो के दिशा-निर्देशों के तहत जा रहे हैं।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Amazon Exclusive

Promotion

- Google Advertisment -

Most Popular