HomeOthergeneral knowledgePost Office Agent कितने प्रकार के होते हैं? उनका काम क्या हे...

Post Office Agent कितने प्रकार के होते हैं? उनका काम क्या हे ?

How many types of Post Office Agent?

- Advertisement -

भारतीय डाक विभाग भारत में एक डाक प्रणाली है, जो सरकार द्वारा संचालित है, भारतीय डाक के रूप में व्यापार करती है। आमतौर पर भारत में डाकघर कहा जाता है। पोस्ट ऑफिस एजेंट(Post Office Agent) का कार्य का बड़ा महत्व हे। पोस्ट ऑफिस एजेंट(Post Office Agent) की नौकरी में booking letters, बीमा प्रीमियम  बेचने और एकत्र करने, Postal Bond Fixed Deposits बेचने आदि में सहायता करना शामिल है।

- Advertisement -

डाकघर संचार मंत्रालय की सहायक कंपनी के रूप में कई तरह की सेवाएं प्रदान करता है। डाक पहुंचाने से लेकर मनीआर्डर द्वारा पैसे भेजने, लघु बचत योजनाओं के तहत जमा स्वीकार करने और डाक जीवन बीमा (पीएलआई) के तहत जीवन बीमा कवर प्रदान करने का काम विभाग द्वारा किया जाता है।

ग्रामीण डाक जीवन बीमा (RPLI) सेवाएं प्रदान करना जैसे bill collection, sale of forms आदि भी विभाग के अंतर्गत आते हैं।

डाकघर एजेंट के प्रकार:

- Advertisement -

डाक विभाग के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के एजेंट कार्य करते हैं।

  1. एसएएस एजेंट (SAS Agents) :

मानकीकृत एजेंसी प्रणाली (एसएएस) पहली बार सरकार द्वारा 1960 में शुरू की गई थी। एक मानक एजेंसी सिस्टम एजेंट या एसएएस एजेंट की जिम्मेदारियां होती हैं जैसे कि केवीपी / एनएससी / टीडी / एमआईएस / डीएसआरजीई (KVP/ NSC/ TD/MIS/DSRGE ) की बिक्री को बढ़ावा देना आदि। एसएएस एजेंटों की नियुक्ति के लिए जिला कलेक्टर (DC) जिम्मेदार है।

- Advertisement -

पात्रता: कोई भी इच्छुक वयस्क व्यक्ति आवेदन कर सकता है।

  1. महिला प्रधान क्षेत्रीय बचत योजना एजेंट (Mahila Pradhan Kshetriya Bachat Yojna Agent):

महिला प्रधान क्षेत्रीय बचत योजना की एजेंसी प्रणाली 1972 में पहली बार सरकार द्वारा शुरू की गई थी। महिला प्रधान क्षेत्रीय बचत योजना (M.P.K.B.Y.) एजेंट का recurring Deposit (RD) को बढ़ावा देना है।

पात्रता: 18 वर्ष से अधिक आयु की कोई भी महिला इस पद के लिए आवेदन कर सकती है।

  1. लोक भविष्य निधि एजेंट (Public Provident Fund Agents):

पब्लिक प्रोविडेंट फंड स्कीम या पीपीएफ सरकार द्वारा वर्ष 1968 में पेश की गई थी। पब्लिक प्रोविडेंट फंड एजेंट की भूमिका पीपीएफ योजना को उनकी क्षमता के अनुसार बढ़ावा देना है।

पात्रता: कोई भी साक्षर वयस्क इस प्रणाली के तहत एजेंट बनने के लिए पात्र है। पद के लिए न्यूनतम योग्यता 12वीं कक्षा है।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Amazon Exclusive

Promotion

- Google Advertisment -

Most Popular