HomeNewsNationalदीवाली से पहेले पूर्वी भारत पर मंडराया ‘सीतरंग’ का खतरा

दीवाली से पहेले पूर्वी भारत पर मंडराया ‘सीतरंग’ का खतरा

*चक्रवात ‘सीतरंग’ ने बढ़ाया तनाव, यहां भारी बारिश का अनुमान

- Advertisement -

* 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चली हवाएं
*चक्रवात ‘सीतरंग’ ने बढ़ाया तनाव, यहां भारी बारिश का अनुमान

- Advertisement -

मौसम विभाग ने कहा कि नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भी इसी तरह की बारिश की संभावना है
दिवाली से पहले बंगाल-ओडिशा में खतरनाक तूफान सितारंग का खतरा

नइ दिल्ही: उत्तरी अंडमान सागर और उससे सटे दक्षिण अंडमान सागर और दक्षिणपूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। मौसम विभाग ने अलर्ट की घोषणा करते हुए कहा कि यह दबाव चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना है। इसके 25 अक्टूबर को पश्‍चिम बंगाल-बांग्लादेश तट पर पहुंचने की संभावना है। इस चक्रवात का नाम सितरंग रखा गया है।

- Advertisement -

भारतीय मौसम विभाग ने बताया कि तूफान के चलते 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं. पश्‍चिम बंगाल में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। हालांकि, कोलकाता मौसम विज्ञान केंद्र के उप महानिदेशक संजीव बंदोपाध्याय ने कहा कि यह गंभीर चक्रवात नहीं होगा। इसके साथ ही 26 अक्टूबर को विभिन्न स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है।

मौसम विभाग ने कहा कि नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भी इसी तरह की बारिश की संभावना है। यह दबाव 22 अक्टूबर के आसपास पश्‍चिम-उत्तर पश्‍चिम की ओर बढ़ने की संभावना है। यह 23 अक्टूबर को बंगाल की खाड़ी में पहुंच सकता है। इसके धीरे-धीरे चक्रवाती तूफान में बदलने की आशंका जताई जा रही है।

- Advertisement -

बंगाल सरकार ने कुछ जिलों के निचले इलाकों से लोगों को निकालना शुरू कर दिया है। इस बीच, ओडिशा ने अपने कई तटीय जिलों में सतर्कता बढ़ा दी है। पश्‍चिम बंगाल और बांग्लादेश दोनों राज्य सोमवार को काली पूजा और मंगलवार को दिवाली मनाएंगे। ऐसे में यहां के लोगों के लिए पहले ही चेतावनी जारी की जा चुकी है.

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Amazon Exclusive

Promotion

- Google Advertisment -

Most Popular